हिन्दी आलेख Archives

हिन्दी आलेख

A young boy with starbismus in left eye

भैंगापन (Squint or in Hindi)

हमारी दोनों आंखों में अच्छा समन्वय/तालमेल होता है, दोनों आंखे एक ही दिशा में और एक ही बिंदु पर फोकस करती हैं। लेकिन कई बच्चे जन्म से ही भैंगेपन के शिकार होते हैं। जब मस्तिष्क दोनों आंखों से अलग-अलग दृश्य संकेत प्राप्त करता है, तो वह कमजोर आंखों से मिलने वाले संकेत को नज़रअंदाज़ कर […]

Continue reading
Illustration of a healthy eye and dry eye

गैजेट्स का इस्तेमाल बढ़ा रहा है ड्राय आई सिंड्रोम (आंखो में सूखापन) का खतरा (Dry Eye Syndrome in Hindi)

हमारी आंखों में टियर फिल्म (आंसुओं की परत) होती है, जो आंखों में नमी बनाए रखने और उनके सुरक्षा कवच के रूप में काम करती है। टियर फिल्म में गड़बड़ी आने से ड्राय आईस (आंखो मे सूखापन) की समस्या हो जाती है। गैजेट्स के बढ़ते इस्तेमाल से ड्राय आई सिंड्रोम के मामले काफी बढ़ रहे […]

Continue reading
An eye of a feamle with conjunctivitis

कंजक्टिवाइटिस (नेत्रश्लेष्मलाशोथ या आँख आना) – (Conjunctivitis in Hindi)

आंखे बहुत ही नाजुक और संवेदनशील होती हैं। इनके साथ थोड़ी सी भी परेशानी हो तो तुरंत लक्षण दिखाई देने लगते हैं। आंखे आना या पिंक आई आंखों से जुड़ी ऐसी ही एक सामान्य समस्या है, जिसे चिकित्सीय भाषा में कंजक्टिवाइटिस कहते हैं। यह एक्यूट या क्रॉनिक दोनों ही रूपों में हो सकती है और […]

Continue reading
Effect of color blindness glasses

वर्णांधता: रंग-बोध की अक्षमता (कलर ब्लाइंडनेस – Color Blindness in Hindi)

हमारी आंखों की वजह से ही हमारे जीवन में रंग हैं, अगर आंखें न हो तो हमारा जीवन बैरंग हो जाए। दृष्टिहीनता, आंखों से संबंधित सबसे गंभीर समस्या है, इसमें पीड़ित कुछ भी नहीं देख पाता है, उसकी आंखों के आगे हमेशा अंधेरा छाया रहता है। लेकिन वर्णांधता से ग्रस्त लोग सब देख पाते हैं, […]

Continue reading
A woman focusing through glass

दृष्टिवैषम्य (एस्टिग्मैटिज़्म – Astigmatism in Hindi)

रिफ्रेक्टिव इरर (नजर का कमजोर होना) आंखों से संबंधित एक बहुत ही आम समस्या है। इसमें निकटदृष्टि दोष (मायोपिया), दूरदृष्टिदोष (हायपरोपिया) और एस्टिग्मैटिज़्म (दृष्टिवैषम्य) को सम्मिलित किया जाता है। इन्हें रिफ्रेक्टिव इरर/अपरवर्तक त्रुटि इसलिए कहा जाता है, क्योंकि इन तीनों ही समस्याओं में यह महत्वपूर्ण होता है कि आपकी आंखें प्रकाश को कैसे रिफ्रेक्ट या […]

Continue reading
A girl with lazy eye wearing glasses

बच्चों की दृष्टि संबंधी समस्याएं एवं आँखों की देखभाल के टिप्स

आंखें, हमारे शरीर का एक बहुत ही महत्वपूर्ण, नाजुक और संवेदनशील अंग है। सुबह सो कर उठने से लेकर रात को सोने तक ये बिना रूके और बिना थके लगातार काम करती रहती हैं। आंखों के बिना जीवन में कोई रंग नहीं रह जाते। इसलिए बहुत जरूरी है कि नवजात शिशुओं से लेकर किशोर उम्र […]

Continue reading
An elderly woman is undergoing eye check up

आंखों को स्वस्थ रखने के गुण

आंखें, हमारे शरीर के महत्वपूर्ण अंगों में से एक हैं। ये बहुत नाजुक होती हैं, इसलिए उनकी पूरी देखभाल करें, थोड़ी सी भी परेशानी हो तो उसे नज़रअंदाज़ न करें। अगर आंखों से संबंधित समस्याओं को आप लंबे समय तक नज़रअंदाज़ करेंगे तो दृष्टि प्रभावित हो सकती है या हमेशा के लिए आंखों की रोशनी […]

Continue reading
Close up of a red eye of a woman

गंभीर समस्या का संकेत हो सकता है आंखों का लालपन

Read in English आंखें लाल होना एक बहुत ही आम समस्या है, अधिकतर लोगों को जीवन में कभी न कभी इस समस्या का सामना करना पड़ता है। इसके कईं कारण हैं, जो मामूली से लेकर गंभीर हो सकते हैं। अधिकतर मामलों में साफ-सफाई और स्वस्थ्य जीवनशैली अपनाकर इस समस्या से बचा जा सकता है। लेकिन […]

Continue reading
Patient looking at tonometer

काला मोतिया (ग्लूकोमा) : आंखों की एक गंभीर समस्या

Read in English हमारे शरीर के सबसे खास और नाजुक अंगों में से एक होती हैं आंखें। अगर इनका ख्‍याल न रखा जाए तो छोटी-सी परेशानी जिंदगी भर की तकलीफ बन सकती है। लेकिन लोग आंखों की सेहत पर उतना ध्‍यान नहीं देते जितना उन्‍हें देना चाहिए। यही वजह है कि 40 की उम्र तक […]

Continue reading
Eyes of a child getting tested

निकट दृष्टि दोष: लगातार गंभीर होती स्थिति (Myopia in Hindi)

गैजेट्स का लगातार बढ़ता चलन, घर और ऑफिस की चहार दीवारी में सीमित जीवन, शारीरिक सक्रियता की कमी और जंक फूड्स का बढ़ता चलन हमारे शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य को ही नहीं हमारी आंखों की सेहत को भी प्रभावित कर रहा है। विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार, पूरे विश्व में मायोपिया के मामले तेजी से […]

Continue reading